Why is there a ruckus in the politics of Madhya Pradesh ?

News In Shorts:- In Madhya Pradesh (Madhya Pradesh), there has been a fierce battle for nearly 24 hours on horse trading allegation...

News In Shorts:-

In Madhya Pradesh (Madhya Pradesh), there has been a fierce battle for nearly 24 hours on horse trading allegations made by former Chief Minister Digvijay Singh on BJP. Digvijay tweeted on Tuesday morning to bring Congress MLAs to Delhi. After this, when the former Chief Minister Shivraj Singh reached Delhi in the evening, political mercury rose further. The Congress claimed late in the night that the BJP held 6 of the Congress, 2 of the BSP (one suspended) and one Independent MLA hostage at ITC Maratha Hotel in Gurgaon. After this, ministers Jeetu Patwari and Jayawardhan Singh were sent to Delhi from Bhopal in the night. 6 MLAs reached Bhopal on Wednesday afternoon. These include SP's Rajesh Shukla (Bablu), BSP's Sanjeev Singh Kushwaha, Congress's Aindal Singh Kansana, Ranveer Jatav, Kamlesh Jatav and Ram Bai expelled from BSP. According to media reports, the location of 4 MLAs is still not available. These include Bisahulal of Congress, Hardeep Singh Dung, Raghuraj Kansana and Independent Surendra Singh Shera. Digvijay said that BJP has forcibly shifted 4 MLAs from Gurgaon to Bangalore.

हार जित के लिए है, चुनाव नहीं लड़ते:-
दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे के दो दिन बाद गृह मंत्री अमित शाह का बयान आया है. एक कार्यक्रम में अमित शाह ने कहा कि बहुत सारे दलों के लिए चुनाव सरकार बनाने और गिराने के लिए होते हैं. लेकिन भाजपा एक विचारधारा पर आधारित पार्टी है, हमारे लिए चुनाव हमारी विचारधारा को बढ़ाने का जरिया है. सिर्फ हार-जीत के लिए हम चुनाव नहीं लड़ते.

सबको अपनी राय रखने का हक:-
गृह मंत्री शाह ने कहा कि चुनाव में गोली मारने का बयान उचित नहीं था तो राहुल गांधी के डंडे मारने वाला बयान भी ठीक नहीं था. मुद्दा आज भी ये है कि किसी का विरोध किस प्रकार से और किस चीज के लिए होना चाहिए. उन्होंने कहा कि जिस तरह से शाहीन बाग का समर्थन करने वालों को अपने विचार रखने का अधिकार है. उसी प्रकार से हमें भी हमारे विचार व्यक्त करने का अधिकार है और हमने वो किया.


CAA पर फिर से रखी अपनी बात :-
गृह मंत्री ने कहा कि हमारा मन शुद्ध है और हम शुद्ध मन से काम करते हैं. हमने कभी भी धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया है. मैं आज भी देश को बताना चाहता हूं कि CAA में ऐसा कोई भी प्रावधान नहीं है, जो देश के मुस्लिमों की नागरिकता ले सकता हो.शाह ने कहा कि कश्मीर में स्थिति सामान्य है. कोई भी वहां जा सकता है, लेकिन कोई वहां भड़काने वाले भाषण करेगा तो सरकार को कदम उठाने पड़ेंगे. उन्होंने कहा कि अभी कोई भी वहां जाए हम सबको परमिशन दे रहे हैं. सिर्फ वहां के कुछ नेता कुछ प्रावधानों के तहत अभी नजरबंद हैं.


SC/ST मुद्दे पर कांग्रेस को ठहराया:-
अमित शाह ने कहा कि मैं पूरे देश की जनता और विशेषकर SC/ST समुदाय के अपने भाई-बहनों को बताना चाहता हूं कि ये जो प्रस्ताव सुप्रीम कोर्ट में चर्चा में आया, वो कांग्रेस की उत्तराखंड सरकार ने किया था, भाजपा ने नहीं. आरक्षण के लिए वो स्टैंड कांग्रेस की सरकार का था, भाजपा की सरकार का नहीं.


Please Install Our APP & Subscribe Our YouTube Channel For The Latest Updates :-



  





What is your opinion on this news, please tell us through the following comment and share this news.